शौच के बहाने घर से निकला था, कुएं के जाल में लगाई फांसी

सरीला। तिलक (फूलदान) के दिन शौच के बहाने निकले युवक ने घर के समीप पीएचसी परिसर में कुएं के जाल से तौलिया बांधकर फांसी लगा ली। उसे तलाशते हुए जब परिजन मौके पर पहुंचे तो युवक का शव फंदे पर झूलता मिला। इस घटना से विवाह वाले घर में कोहराम मचा है।

जरिया थानाक्षेत्र के धगवां गांव निवासी बाबूलाल ने बताया उनके भतीजे राममिलन (22) पुत्र रनमत अहिरवार का विवाह चरखारी के अठकौंहा में तय हुआ था। 25 अक्तूबर को बरात जानी थी। बुधवार शाम तिलक का कार्यक्रम था। इससे पूर्व सुबह करीब पांच बजे राममिलन शौच के बहाने घर से निकल गया। करीब डेढ़ घंटे तक वापस न लौटने पर उसकी खोजबीन शुरू की। उसे खोजते हुए वह पीएचसी पहुंचे, जहां कुएं में लगे जाल से राममिलन का शव झूल रहा था। बताया वह मंगलवार रात चचेरे भाई सुरेंद्र पुत्र गोरेलाल के मंडप में आयोजित भोज में गया था। लौटने के बाद बिना किसी से कुछ कहे अपने कमरे में जाकर सो गया था।

इससे पहले सोमवार को उसने हंसी खुशी फलदान के लिए कपड़े आदि की खरीदारी की थी। परिजन फांसी लगाने की वजह नहीं बता पा रहे हैं। वह अपने पिता का इकलौता पुत्र था। वह परिवार समेत ईंट भट्टों पर मजदूरी करता था। उसकी मां गेंदारानी, बहन उमा (15) व रोशनी (12) का रो रोकर बुराहाल है। जरिया थानाध्यक्ष रीता सिंह ने बताया परिजन आत्महत्या का कारण नहीं बता पा रहे हैं। मामले की जांच की जाएगी।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.