दिन का संदेश (7 अक्टूबर)


आज का संदेश – रेनूजिक द्वारा

07.10.2021

दिल के दर्द से शांति!

ध्यान।

जीवन में हम अपने मन की प्रकृति की गहराई और गहराई में जाते हैं, तभी हम अपने दिल के दर्द का कारण खोज सकते हैं और इस प्रक्रिया में ज्ञान को जगा सकते हैं। सच तो दिल में अपने आप खुल जाता है। इसलिए हमारा दिल दुखता है जब हम इस तथ्य के प्रति जाग्रत होते हैं कि यह मानव जीवन अत्यंत महत्वपूर्ण है। यहीं पर सभी आध्यात्मिक यात्राओं की पूरी तैयारी होती है। सर्वोच्च तैयारी इस जीवन काल में प्रबुद्ध होना है। ज्वलंत और सटीक ज्ञान है जो दिल में शांति बहाल करता है। उपचारात्मक क्रिया वह है जो हमें स्पष्ट दिशा देती है कि हम वास्तव में कहाँ जाना चाहते हैं। उपचार शुरू करें और दिल के दर्द से मुक्त होकर वर्तमान क्षण के लिए प्रबुद्ध बनें। गहन चिंतन के आलिंगन। शांति और अनुग्रह के जलाशय से प्रेम।
रेनूजी।

पांच बार दोहराएं!

आज अपने कपडे की आलमारी से पाँच वस्त्र पहनो, रसोई की अलमारी से पाँच वस्तुएँ लो और एक पकवान पकाओ, पाँच सिक्के लेकर अपने घर में पाँच अलग-अलग स्थानों पर रख दो। आज कम से कम पांच गिलास पानी पिएं। पांच चीजें कूड़ेदान में डालें, जैसे आप अपना घर साफ करते हैं।

  अब बॉलीवुड से नफरत करने का मतलब है, है ना?

Leave a Comment